What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में

दोस्तों आज आपके लिए हम What Is GST In Hindi के बारे में बताने जा रहे है। आप सभी इस बारे में अभी तक अच्छे से समझ नहीं पाए होंगे। कोई बात नहीं आज की इस Post में हम इसी बारे में बात करने वाले है कि What Is GST In Hindi क्या है। आप सभी जानते ही है हम आपके लिए हमेशा कुछ नया लेकर आते रहते है। इसलिए अगर आपको हमारी Information अच्छी लगती है तो Post को पूरा पढ़े साथ ही अपने दोस्तों के साथ Share करना बिलकुल न भूले। 


What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में
What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में 

What is GST in Hindi – GST का Full Form है "गुड्स एंड सर्विस टैक्स" (goods & service tax) जो कि एक Indirect tax है। जिसे भारत में 1 जुलाई 2017 से लागु किया गया है। GST सम्पूर्ण भारत पर लागू होता है  इसमें जम्मू एंड कश्मीर भी शामिल है। भारत में जीएसटी को लाने का सबसे पहले प्रस्ताव कलकर कमेटी ने वर्ष 2004 में दिया था। आज हम बात कर रहे है What Is GST In Hindi के बारे में। 

What is TDS? ऑनलाइन टीडीएस भुगतान कैसे करे ?

इसके बाद Finance Minister पी चिदंबरम ने 28-02-2006 को दिए गए बजट भाषण में GST के बारे में बताया था और इसे भारत में लागू करने कर प्रस्ताव दिया था। लेकिन Political reasons की वजह से उस समय इसे लागू नहीं किया जा सका। आज GST को लागु होने के इतने दिनों बाद भी लोग अभी तक पूरी तरह नहीं समझ पाये है कि वास्तव में What Is GST In Hindi।

What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में 

जीएसटी एक Destination based tax है जो कि गुड्स एंड सर्विसेज की सप्लाई पर सेंट्रल और स्टेट सरकार द्वारा लगाया जाता है। डेस्टिनेशन बेस्ड टैक्स से हम समझ सकते है कि GST उस राज्य द्वारा लिया जायेगा जहा पर Use Of Goods किया जा रहा है।


What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में
What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में 

Goods & Service Tax गुड्स की सप्लाई पर लगाया जाता है यानि की GST लगाने के लिए यह जरुरी नहीं है कि गुड्स को बेचा गया हो। अगर गुड्स को एक स्टेट से दूसरे स्टेट में Transfer किया जा रहा हो या एक ब्रांच से दूसरी ब्रांच में भी भेजा जा रहा हो तो भी GST लगाया जायेगा। लेकिन इस तरह भुगतान किये गए GST की क्रेडिट ली जा सकती है।

What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में 

वस्तु एवं सेवा कर (GST ) को लागु करने से पहले Goods & Service Tax पर अलग -अलग तरह के Tax जैसे कि एक्साइज ड्यूटी, VAT, CST, service tax आदि लगाए जाते थे, लेकिन GST को लागू करने के बाद अधिकतर Indirect Taxes को हटा दिया गया है Then In Place Of अब GST लगाया जाने लगा है यानि कि एक देश एक कर। हम बात कर रहे है What Is GST In Hindi के बारे में। 

Goods and service tax और पहले के Indirect Taxes में टैक्स लगाने की Timing का भी अंतर है। जैसे GST को लागू करने से पहले गुड्स के निर्माण के समय एक्साइज ड्यूटी, गुड्स के बेचने पर सेल्स टैक्स, और सर्विसेज प्रदान करने पर Service Tax लगाया जाता था लेकिन जीएसटी सिस्टम में जीएसटी Goods & Service Tax की सप्लाई पर लगाया जाता है।

What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में 

What is GST - The full form of GST is Goods and Service Tax which is an Indirect tax which has been introduced in India from 1 July 2017. GST applies to the whole of India (includes Jammu and Kashmir). The Kelkar Committee first proposed to introduce GST in India in 2004.

After this, Finance Minister P Chidambaram had told about GST in the budget speech given on 28-02-2006 and proposed to implement it in India. But it could not be implemented at that time due to political reasons. Today even after so many days of implementation of GST, people have not yet fully understood that gst is kya hai.

What is GST

Today we are discussing about What Is GST In Hindi . I am also explain it in English because some people know Hindi and some understand English. GST is a destination based tax levied by the Central and State Governments on the supply of goods and services. With destination based tax, we can understand that GST will be taken by the state where the goods are being used.


What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में
What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में 

Goods and service tax is levied on the supply of goods, that is, it is not necessary to impose GST that the goods have been sold. GST will also be levied if the goods are being transferred from one state to another or are also being sent from one branch to another. But credit of GST paid in this way can be taken.

Goods and services were levied different types of taxes such as excise duty, VAT, CST, service tax etc. before the Goods and Services Tax (GST) was imposed, but most of the Indirect Taxes were removed after the implementation of GST. GST has been given and now GST is being imposed in their place i.e. one country one tax.

There is also a difference in the timing of taxation between Goods and Service Tax and earlier Indirect Taxes. Like before the implementation of GST, excise duty was levied at the time of manufacture of goods, sales tax on the sale of goods, and service tax on providing services but in the GST system, GST is levied on the supply of goods and services.

How will Work GST

जब GST लागू किया जाएगा, तो 3 तरह के कर होंगे :

  1. CGST : जहां केंद्र Govt द्वारा राजस्व एकत्र किया जाएगा
  2. SGST : राज्य में बिक्री के लिए राज्य सरकारों द्वारा राजस्व एकत्र किया जाएगा
  3. IGST : जहां अंतरराज्यीय बिक्री के लिए केंद्र सरकार द्वारा राजस्व एकत्र किया जाएगा

Example 

Mumbai में एक व्यापारी ने 10,000 रुपये में उस राज्य में उपभोक्ता को माल बेच दिया। GST की दर 18% है जिसमें CGST 9% की दर और 9% SGAT दर शामिल है।ऐसे मामलों में डीलर 1800 रूपए जमा करता है और इस राशि में 900 रुपए केंद्र सरकार के पास जाएंगे और 900 रुपए Mumbai सरकार के पास जाएंगे। इसलिए अब डीलर को IGST के रूप में 1800 रूपये चार्ज करना होगा। अब CGST और एसजीएसटी को भुगतान करने की आवश्यकता नहीं होगी।

How GST will help common man

इसे हम एक Exampleको समझ कर अच्छे से जानते है। 

एक शर्ट निर्माता कच्चे माल खरीदने के लिए 100 रुपये का भुगतान करता है। यदि करों की दर 10% पर निर्धारित है, और इसमें कोई लाभ या नुकसान नहीं है, तो उसे कर के रूप में 10 रूपये का भुगतान करना होगा। तो, शर्ट की अंतिम लागत अब (100 + 10 =) 100 रुपये हो जाती है। 

What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में
What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में 

अगले चरण में, थोक व्यापारी 110 रुपये में निर्माता से शर्ट खरीदता है, और उस पर लेबल जोड़ता है। जब वह लेबल जोड़ रहा है, वह मूल्य जोड़ रहा है। इसलिए, उसकी लागत 40 रुपए (अनुमानित) से बढ़ जाती है | इसके ऊपर, उसे 10% कर का भुगतान करना पड़ता है, और अंतिम लागत इसलिए हो जाती है (110 + 40 =) 150 + 10% कर = 165 रूपये |

अब, फुटकर विक्रेता या रिटेलर थोक व्यापारी से शर्ट खरीदने के लिए 165 रुपये का भुगतान करता है क्योंकि कर दायित्व उसके पास आया था। उसे शर्ट पैकेज करना पड़ता है, और जब वह ऐसा करता है, तो वह फिर से मूल्य जोड़ रहा है। इस बार, मान लें कि उनका मूल्य अतिरिक्त 30 रूपये है। अब जब वह शर्ट बेचता है, तो वह इस मूल्य को अंतिम लागत (और VAT जिसे वह सरकार को देना होगा) में जोड़ता है | इसके साथ ही उसे सरकार को देय वैट जोड़ना होगा | तो, शर्ट की लागत 214.5 रुपए हो जाती है | इस का एक ब्रेक अप देखते हैं:

Cost = रु 165 + मान जोड़ = रु 30 + 10% कर = रु 195 + 19.5 =  214.5 रुपये

इसलिए, ग्राहक एक शर्ट के लिए 214.5 रुपये का भुगतान करता है, जिसकी कीमत मूल रूप से केवल 170 रुपये (110 + 40 + 30 रुपये) थी। ऐसा होने के लिए, कर दायित्व हर बिक्री पर पारित किया गया था और अंतिम दायित्व Costumer के पास आ गया। इसे करों का व्यापक प्रभाव कहा जाता है जहां टैक्स के ऊपर टैक्स का भुगतान किया जाता है और Item का मूल्य हर बार बढ़ता रहता है।

GST में, इनपुट प्राप्त करने में भुगतान किए गए कर के लिए Credit का दावा करने का एक तरीका है।इस में वह व्यक्ति जिसने कर चुकाया है, वह अपने करों को जमा करते समय इस कर के लिए Credit का दावा कर सकता है।

What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में 

हमारे उदाहरण में, जब थोक व्यापारी निर्माता से खरीदता है, तो वह अपनी लागत मूल्य पर 10% कर देता है क्योंकि उसके पास देयता दे दी गई है | फिर वह 100 रुपयों की लागत कीमत पर 40 रुपए का मूल्य जोड़ा और इससे उसकी लागत 140 रुपए हो गई। अब उसे इस कीमत का 10% सरकार को  कर के रूप में देना होगा। लेकिन उन्होंने पहले ही निर्माता को एक कर का Payment किया है।लेकिन उसने पहले ही निर्माता को एक कर का Payment किया है। इसलिए, इस बार वह क्या करता है, सरकार को टैक्स के रूप में (140% के 10% = 14) का भुगतान करने की बजाय वह पहले से भुगतान की गई राशि को घटा देता है | इसलिए उसकी 14 रुपए की नई देनदारी से वह 10 रुपए कटौती करता है और सरकार को केवल 4 रुपए का भुगतान करता है | तो 10 रुपए उसका इनपुट क्रेडिट हो जाता है।

What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में
What Is GST In Hindi - जीएसटी क्या है हिंदी में 

जब वह सरकार को 4 रुपये का भुगतान करता है, तो वह रिटेलर को अपनी देयता दे सकता है। इसके बाद, फुटकर विक्रेता उसे शर्ट खरीदने के लिए (140 + 14 =) 154 रुपये का भुगतान करेगा।अगले चरण में, रिटेलर ने 30 रुपये का मूल्य उसकी लागत कीमत में जोड़ 

दिया और सरकार को उस पर 10% कर का भुगतान किया। जब वह मूल्य जोड़ता है, तो उसकी कीमत 170 रुपये हो जाती है | अब, अगर उसे उस पर 10% कर देना पड़ता है, तो वह Costumer के दायित्व को पारित कर देता। लेकिन उसके पास इनपुट Credit है क्योंकि उसने थोक व्यापारी को टैक्स के रूप में 14 रुपये में भुगतान किया है। इसलिए, अब वह अपनी कर दायित्व (170% = 170) = 17 रूपए से 14 रुपए कम कर देता है और उसे सरकार को केवल 3 रुपए का भुगतान करना पड़ता है।और इसलिए, वह अब ग्राहक को यह शर्ट (140 + 30 + 17 =) 187 रुपये में बेच सकता है।

अंत में, हर बार जब कोई व्यक्ति इनपुट Tax क्रेडिट का दावा करने में सक्षम होता है, तो उसके लिए बिक्री Cost कम हो जाता है | और उसके उत्पाद पर कम कर दायित्व के कारण  लागत मूल्य भी कम हो जाता है। शर्ट का अंतिम मूल्य भी 214.5 रुपये से 187 रुपये कम हो गया, इस प्रकार अंतिम ग्राहक पर कर का बोझ कम हो गया।


इसलिए अनिवार्य रूप से, माल और सेवा कर में Two Side लाभ होने वाला है। पहला, यह करों के व्यापक प्रभाव को कम करेगा और दूसरा, इनपुट कर Credit की अनुमति के द्वारा, यह कर के बोझ को कम करेगा और, उम्मीद है, Cost भी कम हो जाएंगी |

Last Word

दोस्तों हमने आपके लिए यहाँ What Is GST In Hindi की जानकारी हिंदी और इंग्लिश में दी है। हमने सारी Information आपके लिए संक्षेप में दी है क्युकी लोग ज्यादा Read करना पसंद नहीं करते। दोस्तों हमने आपको जो भी बताया है अगर आपको पसंद आया है तो Comment कर के ज़रूर बताये। इसी तरह की नई जानकारी पाने के लिए दोवारा ONS Techs पर Visit करना बिलकुल न भूले। 

No comments:

Powered by Blogger.