What Is Hardware And Types Of Computer Hardware

What Is Hardware And Types Of Computer Hardware

कंप्यूटर क्लासेज के इस सेकंड आर्टिकल में आपका स्वागत है। दोस्तों आज हम बात करने वाले है What Is Hardware And Types Of Computer Hardware के बारे में। अगर आपको हमारा पिछला Article समज आ गया है तो आप आज के इस पोस्ट को भी ज़रा ध्यान से पड़ना क्यों की ये आपके ही काम आने वाला है।  जितना हो सकता है उतना मेने अपनी ओर से आपको समझाने की Try की है। हमे आपसे उम्मीद है की आपको हमारी आज की Post पढ़ कर ज़रूर कुछ न कुछ समझने को मिल जायेगा।

What Is Hardware And Types Of Computer Hardware
What Is Hardware And Types Of Computer Hardware


What Is Hardware in Hindi

आप सभी जानते ही हैं की कंप्यूटर दो चीजों से मिलकर बनता है। जिनमे से एक होता है Software और दूसरा होता है Hardware, और आज हम What Is Hardware And Types Of Computer Hardware के बारे में बात करने वाले है। हार्डवेयर कंप्यूटर का वह भाग है जिसे हम देख सकते है छु सकते है यानी कंप्यूटर के Physical Parts को हार्डवेयर जाता है।

Computer Kya Hai - Full Information About Computer

हार्डवेयर के बिना कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का कोई मतलब नहीं। Hardware की मदद से ही हमारे काम पुरे हो पाते है। दोस्तों हार्डवेयर की मदद से ही हम Computer को Command दे पाते है। अगर हम कंप्यूटर को देखें तो कंप्यूटर कुछ भी नहीं बस हार्डवेयर से मिलकर बनी एक Machine है। जिसमे अलग अलग तरह के Components लगे हुए है जैसे Monitor, Keyboard, Mouse आदि। अगर बात की जाये सॉफ्टवेयर की तो Software कंप्यूटर की आत्मा है तो कंप्यूटर उसका शरीर है। 

What Is Computer Hardware

दोस्तों आप जानते हैं  कि Computer एक मशीन है। कंप्यूटर के यही मशीनरी पार्ट्स कंप्यूटर का Hardware कहलाते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि अकेला हार्डवेयर की सभी काम कर सकता है। कंप्यूटर का दूसरा हिस्सा Software भी है सॉफ्टवेयर की सहायता से ही कंप्यूटर के हार्डवेयर को निर्देश दिए जाते हैं। 

What Is Hardware And Types Of Computer Hardware
What Is Hardware And Types Of Computer Hardware

उदहारण के लिए मान लीजिये आपको कोई गाना सुनना है तो आप कंप्यूटर के किसी Multimedia सॉफ्टवेयर से कोई गाना प्ले करेंगे। सुनने आपको स्पीकर की आवश्यकता होगी बिना स्पीकर के आप गाना नहीं सुन सकते हैं। इसी प्रकार केवल स्पीकर के होने से ही आप गाना नहीं सुन सकते हैं आपके कंप्यूटर में मल्टीमीडिया एप्लीकेशन होना आवश्यक है किसी गाने को सुनने के लिए अगर आपके कंप्यूटर मल्टीमीडिया एप्लीकेशन नहीं है तो आप कंप्यूटर से कोई गाना प्ले भी नहीं कर सकते हैं। अगर देखा जाए तो सॉफ्टवेयर कंप्यूटर की Sole है और हार्डवेयर उसका शरीर है दोनों का होना बहुत Important है किसी भी काम को करने के लिए। 

हम कह सकते है की कंप्यूटर में हमे जो भी चीजे कनेक्टेड दिखयी देती है जिन्हे हम टच भी कर सकते है वो सभी चीजे Computer Hardware में आती है। 

Types Of Hardware / Types Of Computer Hardware

यह तो आप जान चुके है, कि Computer Hardware उन Physical Parts को  कहते है। जिनसे मिलकर एक कंप्यूटर का निर्माण होता है। इनको अलग - अलग Category में बांटा जाता है। नीचे Computer Hardware को चार अलग - अलग श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है, जिससे इन्हें समझना आपके लिए आसान हो जायेगा। 

1) Input Device

इसके अंतर्गत वह Hardware Device आते है, जो Computer को Data भेजने का कार्य करते है। इनके द्वारा ही उपयोगकर्ता कंप्यूटर से Contact बना कर उनसे अपना कार्य कराते है। कुल मिलाकर इनके इस्तेमाल से आप कंप्यूटर जी को Control और उनसे Interaction कर पाते है। इसका सबसे आसान उदाहरण आपका Keyboard है, यह User को कंप्यूटर में Alphanumeric Data और Command को input करने की अनुमती देता है। सोचिये अगर Key-Board इसका हिस्सा नही होता तो क्या आप कंप्यूटर का Use कर पाते। Input device के अंतर्गत कई सारे Computer Hardware आते है, इनके कुछ मुख्य उदाहरण नीचे दिये गये है। 

  • Mouse
  • Keyboard
  • Scanner
  • Microphone
What Is Hardware And Types Of Computer Hardware
What Is Hardware And Types Of Computer Hardware


2) Output Device

इसमे वह कंप्यूटर हार्डवेयर आते है, जो Computer Data को User तक पहुचाने या उसके अनुकूल बनाने का कार्य करते है। उदाहरण के लिये Computer Screen जिसे हम Monitor कहते है। मॉनिटर, कंप्यूटर का मुख्य आउटपुट डिवाइस है। यह किसी भी डेटा को आप तक Send करने का कार्य करता है। यानी जो भी Instruction आप कंप्यूटर में feed करते है, उसका Output इन्ही के द्वारा आपको दिखाई देता है। Output device के द्वारा ही कंप्यूटर User और अन्य Hardware Device से Communicate कर पाते है. इनके कुछ उदाहरण नीचे दिये गए जिन्हें पढ़कर आप Output Devices को अच्छे से समझ जायेंगे। 

  • Monitor
  • Printer
  • Touch Screen
  • Speaker
  • Headphones

3) Processing Device

जब आप Keyboard या किसी दूसरी Input Device के माध्यम से Computer को Data भेजते है, तो वह डाटा Monitor या किसी Output Device को भेजे जाने से पहले एक Intermediate Stage से होकर गुजरता है। यह वो Stage है, जहां Raw Data को Information में बदला जाता है. इन्हें Internal Memory Device भी कहा जाता है। 

  • Motherboard
  • CPU (Central processing unit)
  • GPU (Graphics processing unit)
  • Network Card

4) Storage Device

यह वह Computing Hardware होते है, जो Data को Retain रखने और Store करने का कार्य करते है। Storage Device किसी भी Computer Device के Core Components में से एक है. यह कंप्यूटर पर लगभग सभी Data और Application को Store करते है। उदाहरण के लिये एक मानक कंप्यूटर में RAM, Cach और Hard disk सहित कई Storage Device होते है।

What Is Hardware And Types Of Computer Hardware
What Is Hardware And Types Of Computer Hardware


There Is Two Type OF Storage Devices

Primary Storage Device :- यह स्टोरेज डिवाइस अस्थायी (temporary) रूप से डेटा रखने के लिये इस्तेमाल किये जाते है। यह आकार में काफी छोटे होते है। जिसके कारण यह कंप्यूटर में आंतरिक होते है। प्राथमिक स्टोरेज डिवाइस के पास सबसे तेज Data Access Speed है। इनमे Ram व Cach Memory शामिल है। 

Secondary Storage Device :- इन डिवाइस के पास Large Storage Capacity होती है. साथ ही यह Data को स्थायी (permanent) रूप से Store करके रखती है। यह कंप्यूटर के In and Out मौजूद होती है। इनके मुख्य उदाहरण Optical disk drive, Hard disk और USB Storage Device है। 

List Of Computer Hardware

1. CD/DVD Drive
2 प्रोसेसर – Micro Processor
3 मदर बोर्ड – Mother Board
4 मेमोरी – Memory
5 हार्ड डिस्क – Hard Disk Drive
6 मॉडेम – Modem
7 साउंड कार्ड – Sound Card
8 मॉनिटर – Monitor

Last Word

तो कैसा लगा आपको आज की इस Post को पढ़ कर ज़रूर बताईयेगा। दोस्तों हमे आज के इस टॉपिक में आपको What Is Hardware And Types Of Computer Hardware के बारे में आपके सभी डॉउट Clare करने की कोशिश की। अगर आपको आज की यह Post पसंद आयी है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर से ही Share करे। मिलते है आपसे अगली बार कुछ नई Information के साथ तब तक के लिए खुश रहे मुस्कुराते रहे।

No comments:

Powered by Blogger.