KYC Full Form In Hindi | KYC Meaning | KYC Ka Full Form क्या होता है?

KYC Full Form : हेलो दोस्तों कैसे हो आप सभी उम्मीद करता हु की आ सभी अच्छे ही होंगे। आज की इस पोस्ट में हम बात करने वाले है KYC Full Form In Hindi के बारे में। हम इसके बारे में अच्छे से जानेगे की आखिर KYC क्या है? और KYC Ka Full Form क्या होता है? अगर आप भी इसी के बारे में अभी तक सर्च कर रहे थे तो आपके लिए हम ये सभी जानकारी लेकर आये है। उम्मीद करते है की आप इसे पढ़ कर अच्छे से समझ जायेगे की आखिर KYC क्या है?

KYC Full Form In Hindi  KYC Meaning  KYC Ka Full Form क्या होता है

KYC Ka Full Form क्या होता है और इसका मतलव क्या होता है। यह हमें पता होना चाहिए क्योंकि यह हमारे बहुत काम आने वाली चीज है। आप सभी कभी ना कभी बैंक तो गए ही होंगे। बैंक में जब आप खाता खोलते हैं या फिर लोन लेते हैं या क्रेडिट कार्ड लेते हैं, पोस्ट ऑफिस में अपना बीमा करते हैं तो आपको हमेशा केवाईसी फॉर्म भरने की आवश्यकता पड़ती है। यह प्रोसेस ऑनलाइन वॉलिट के लिए भी प्रयोग में लाया जाता है। उदाहरण के लिए Phone Pe, Google Pe और Paytm  में भी इस तरह की केवाईसी करना जरूरी या गया है। 

KYC Full Form In Hindi | KYC Ka Full Form क्या होता है

दोस्तों केवाईसी का सीधा सीधा मतलब होता है कि बैंक की ओर से आपसे कुछ जरूरी दस्तावेज लिए जाते हैं। जिनसे यह पता लगा सकते हैं कि आप कौन हैं और कहां रहते हैं। वहां पर आपके सभी डिटेल्स को संभाल के रखा जाता है। किसी भी बैंक अकाउंट को ओपन करने से पहले केवाईसी दस्तावेज जरूर मांगे जाते हैं। 

आपको बता दें आरबीआई द्वारा शुरू किया गया था। इसके अंतर्गत सभी बैंकों को अपने ग्राहकों की आइडेंटिटी वेरिफिकेशन करना बहुत आवश्यक है। तो चलिए अब हम बात करते हैं KYC Full Form In Hindi के बारे में दोस्तों केवाईसी को सीधे शब्दों में कहा जाए तो इसे आईडेंटिटी वेरीफिकेशन कहते हैं। केवाईसी का फुल फॉर्म  नीचे दिया गया है। 

KYC Full Form In Hindi : Know Your Customer (अपने ग्राहक को जानो)

अब आप जान ही चुके होंगे की केवाईसी की फुल फॉर्म क्या होती है। जी हां KYC को आईडेंटिटी वेरीफिकेशन भी कहा जाता है जिस तरह की हमने ऊपर बताया है। इसका सीधा सीधा मतलब है कि जो भी किसी बैंक के ग्राहक होते हैं। उनकी जानकारी रखना इसलिए केवाईसी का फुल फॉर्म know your customer यानी कि अपने ग्राहक को जाना होता है। 

KYC Full Form In Hindi | KYC Meaning in Hindi

दोस्तों ऊपर हमने आपको बताया है कि केवाईसी का फुल फॉर्म क्या होता है। तो चलिए अब हम बात करते हैं इसके मतलब के बारे में। दोस्तों इसका सीधा सा मतलब है जिस तरह से मैं आपको पहले भी बता चुका हूं कि इसका सीधा सा मतलब होता है अपने ग्राहक को जानना। जहां बैंकों के द्वारा जब आपसे KYC Documents भरने के लिए कहा जाता है। KYC Meaning in Hindi होता है कि वह आपके बारे में जानना चाहते हैं 

इसमें सीधी सी बात यह है कि यदि आप किसी बैंक में अपना अकाउंट खोलते हैं या फिर लोन लेना चाहते हैं तो वह आपकी जानकारी जरूर रखेंगे। क्योंकि क्योंकि उन्हें पता भी होना चाहिए कि वह लोन किसको दे रहे हैं। वह व्यक्ति असल में है और कहां से है। बैंकों को आरबीआई की गाइडलाइन के अनुसार हर व्यक्ति की आइडेंटिटी की जानकारी होनी चाहिए। इसीलिए आप से वहां पर KYC Documents मांगे जाते हैं। 

KYC होता क्या है और क्यों ज़रूरी है 

केवाईसी से हम किसी भी व्यक्ति की आइडेंटिटी को अच्छे से जान सकते हैं। मान लीजिए यदि किसी बैंक में किसी का एक अकाउंट है किसी का एक अकाउंट और वह व्यक्ति यदि किसी कारणवश मर जाता है। तो उसके बारे में पता भी होना चाहिए कि उसके बैंक का वो पैसा किसे दिया जाए। इसी कारण केवाईसी जरूरी हो जाती है। केवाईसी का सीधा सा मतलब है कि किसी भी व्यक्ति की आईडेंटिटी वेरीफिकेशन करना। वह व्यक्ति असल में है भी या फिर नहीं। 

इसी आधार पर यदि आप किसी बैंक से लोन लेते हैं तो बैंक अधिकारी आपसे KYC Documents जरूर मांगेंगे। क्योंकि उन्हें पता भी होना चाहिए कि आखिर वह दोनों दे किसको रहे हैं। यदि वह अपना लोन समय से नहीं चुकता है तो बैंक के अधिकारी उस पर कार्यवाही कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें उसकी आईडेंटिटी का पता होना चाहिए। साथ ही वह लोन की रकम सही इंसान के पास जाए इसीलिए भी केवाईसी जरूरी हो जाता है। 

Types of KYC | KYC कितने तरह की होती है 

आप में से बहुत से लोगों को नहीं पता होगा कि केवाईसी कितने प्रकार की होती है। आपकी जानकारी के लिए मैं यहां पर इस पोस्ट में आपको बता देता हूं कि केवाईसी दो तरह की होती है। यदि आपको इस बारे में नहीं पता है तो यहां आपको सब कुछ जानने को मिल जाएगा। उम्मीद करता हूं आप अच्छे से समझ ही जाएंगे तो चलिए बात करते हैं Types of KYC के बारे में। KYC दो प्रकार की कौन-कौन सी होती है। 
  • EKYC
  • CKYC
1. EKYC की फुल फॉर्म Electronic Know Your Customer होता है। दोस्तों इसमें आपको किसी भी प्रकार के डॉक्यूमेंट देने की जरूरत नहीं होती है। यह ज्यादातर आधार कार्ड से होती है। इसमें आपको केवाईसी करने के लिए किसी भी तरह के डॉक्यूमेंट देने की जरूरत नहीं होती है। यहां पर आप का फिंगरप्रिंट लिया जाता है। जिससे यह पता लगाया जाता है कि आपकी Identity क्या है। यहां पर बायोमेट्रिक तरीके से आप के आधार कार्ड से आपके पता तथा आपके Identity को लिया जाता है। 

2. C-kyc की फुल फॉर्म Centrel Know Your Customer होता है। इसकी बात की जाए तो यह एक केंद्रीय स्तर पर की जाती है। यह वेरिफिकेशन की जरूरत बीमा कंपनियों में और म्यूचुअल फंड आदि में की जाती है। यहां पर यह कंपनियां आपसे आपकी वेरिफिकेशन के लिए डॉक्यूमेंट ले सकती है साथ ही आप इन्हें डिजिटल तौर पर भी अपने डॉक्यूमेंट शेयर कर सकते हैं। यह कंपनी पर निर्भर करता है कि वह कौन सा डॉक्यूमेंट चाहती है। 

KYC के लिए क्या क्या Documents होने चाहिए 

दोस्तों अभी तक हमने पढ़ा है कि KYC Meaning, KYC Full Form In Hindi और यह कहां-कहां पर जरूरी होती है। अब हम जानेंगे की केवाईसी करने के लिए किन किन डॉक्यूमेंट की जरूरत होती है। तो चलिए अब मैं आपको बताता हूं कि केवाईसी किन-किन दस्तावेजों के द्वारा की जाती है। मुख्य द्वार पर केवाईसी के लिए उन सभी दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है जो कि मैं आपको यहां पर बता रहा हूं। 


PAN Card 

Passport 

Voter ID Card 

Driving License 

NREGA Job Card

दोस्तों मुख्य तौर पर इन सभी दस्तावेजों का उपयोग केवाईसी करने के लिए किया जाता है। आप अपनी केवाईसी करने के लिए बैंक में भी इन सभी डिटेल को दे सकते हैं। 

Last Word

उम्मीद करते हैं कि आज की इस पोस्ट से आपको काफी ज्यादा मदद मिली होगी। यदि आप भी केवाईसी के बारे में सर्च कर रहे थे तो उम्मीद करता हूं कि आपको यह सब समझ आ चुका होगा कि आखिर केवाईसी क्या होती है। आपको हमारी आज की KYC Full Form In Hindi | KYC Meaning | KYC Ka Full Form क्या होता है? पोस्ट कैसी लगी। यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। ताकि उन्हें भी सब चीजों के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त हो सके। नई जानकारी के साथ फिर मुलाकात होगी। धन्यवाद!

No comments:

Powered by Blogger.